Read Hanoosh by Bhisham Sahni Free Online


Ebook Hanoosh by Bhisham Sahni read! Book Title: Hanoosh
The author of the book: Bhisham Sahni
Edition: Rajkamal Prakashan
The size of the: 4.97 MB
City - Country: No data
Date of issue: 2010
ISBN: 8126705401
ISBN 13: 9788126705405
Language: English
Format files: PDF
Loaded: 2033 times
Reader ratings: 7.3

Read full description of the books:



"झरोखे" पढ़ने के बाद मैं भीषम साहनी जी की लेखनी से खासा प्रभावित था। इसी लिए प्रगति मैदान में लगे विश्व पुस्तक मेले से उन की लिखी और दो-तीन किताबें उठा लाया। "हानूश" उन में से एक थी। हानूश भीषम जी का लिखा पहला नाटक था। शायद इसी लिए उतना बेहतर नहीं था जितने बाकी नाटक लिखे गए हैं। नाटक की कहानी चेकोस्लोवाकिया की लोक-कथा से प्रेरित है। नाटक के पात्र बहुत सही ढंग से चुने गए हैं। ख़ास कर के दुसरे भाग में व्यापारियों का वार्तालाप अत्यंत रोचक है और "12 एंग्री मेन" की फील देता है। हर एक पात्र का एक उद्देश्य था जो कि बहुत ही सुस्पष्ट था। इसी लिए पढ़ने का और मज़ा आ रहा था।
मगर नाटक में कई जगह ऐसा लगा कि जैसे कुछ संवादों को ज़बरदस्ती कहानी में घुसाया गया है। मैंने भीषम जी की बहुत रचनाएँ नहीं पढ़ी हैं लेकिन जितनी पढ़ी हैं उन से ऐसा लगा कि वह समाज पर बहुत बढ़िया तंज कसते हैं। "झरोखे" भी इस से भरपूर थी। लेकिन हानूश में कई जगह वह तंज सस्ते में निपट गए। ऐसा लगा जैसे सिर्फ तंज मारने को ही वह संवाद लिखा हो, चाहे कहानी से कोई ताल्लुक़ न भी हो।
बहरहाल नाटक की भाषा बहुत सरल है और पढ़ने में ज़्यादा समय नहीं लगता। तो इसी लिए आप सब भी एक बार ज़रूर पढ़ें।


Download Hanoosh PDF Hanoosh PDF
Download Hanoosh ERUB Hanoosh PDF
Download Hanoosh DOC Hanoosh PDF
Download Hanoosh TXT Hanoosh PDF



Read information about the author

Ebook Hanoosh read Online! Bhisham Sahni (भीष्म साहनी) was a hindi writer, playwright, and actor, most famous for his novel and television screenplay Tamas ("Darkness"), a powerful and passionate account of the Partition of India. He was awarded the Padma Bhushan for literature in 1998, and Sahitya Akademi Fellowship in 2002.


Reviews of the Hanoosh


BLAKE

An interesting book, not like the other

GEORGE

Phone number you need to drive for protection against robots I wrote a phone and downloaded no problem.

MOLLY

Bogus! You could have done better.

LEWIS

Put it on the toilet paper! or the fireplace!

MEGAN

The book caused contradictory feelings!




Add a comment




Download EBOOK Hanoosh by Bhisham Sahni Online free

PDF: hanoosh.pdf Hanoosh PDF
ERUB: hanoosh.epub Hanoosh ERUB
DOC: hanoosh.doc Hanoosh DOC
TXT: hanoosh.txt Hanoosh TXT